10.5 C
New York
Sunday, April 14, 2024

Buy now

spot_img

नशे के विरुद्ध जागरूकता कार्यक्रम और पैदल जागरूकता यात्रा निकाल लोगों को किया जागरूक

नशे के विरुद्ध जागरूकता कार्यक्रम और पैदल जागरूकता यात्रा निकाल लोगों को किया जागरूक

दृढ़ संकल्प और इच्छा शक्ति से छोड़ सकते हैं नशा- पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार

यमुनानगर प्रदेश एजेण्डा न्यूज़

हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कण्ट्रोल ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक श्री ओपी सिंह आईपीएस साहब के दिशानिर्देशों एवं पुलिस अधीक्षक श्री शशांक कुमार सावन, आईपीएस, कुमारी निकिता खट्टर, आईपीएस और श्री अनिल कुमार साहब के आदेशानुसार नशा मुक्त हरियाणा अभियान को सार्थक करने के लिए अथक प्रयास किए जा रहे हैं। इस कड़ी में आज यमुनानगर में नशे के विरुद्ध एक दिवसीय 62वां जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें विशेष रूप से पैदल जागरूकता यात्रा निकाल कर लोगों को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक किया गया। यह कार्यक्रम हरियाणा राज्य नारकोटिक्स कण्ट्रोल ब्यूरो के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी/उप निरीक्षक डॉ. अशोक कुमार वर्मा द्वारा हरनौल में स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित किया गया। विद्यालय के प्राचार्य जीआर अटवाल की उपस्थिति में यह कार्यक्रम आयोजित हुआ। साइकिल पर गाँव गाँव जाकर नशे के विरुद्ध प्रचार प्रसार में जुटे ब्यूरो के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार वर्मा ने विद्यार्थियों को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक करते हुए कहा कि ब्यूरो हरियाणा के प्रत्येक नागरिक तक यह सन्देश देना चाहती है कि नशे के व्यापार में संलिप्त किसी भी अपराधी को अब नहीं छोड़ा जाएगा। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए कड़े संज्ञान लिए जा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि हरियाणा में वर्ष 2022 में 75 नशा तस्करों की संपत्तियों पर पीला पंजा चलाया गया था और अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा गया था। अब भी अनेक नशा तस्करों की सूचियां बनाई जा चुकी है। उन्होंने कहा कि अपराधियों को पकड़ने के साथ साथ नशे में ग्रस्त हो चुके लोगों को निशुल्क उपचार कराया जा रहा है। लोगों को नशे जैसी बुराई से दूर रहने के लिए जागरूक करना ब्यूरो का अन्य महत्वपूर्ण कार्य है। उप निरीक्षक डॉ. अशोक कुमार वर्मा ने विस्तार पूर्वक नशे की परिभाषा, नशे के रूप, नशे के कारण और निवारण, नशा क्यों नहीं करना चाहिए, नशे के दुष्प्रभाव, परिवार, समाज और राष्ट्र पर प्रभावों का विस्तारपूर्वक वर्णन किया। उन्होंने बताया कि नशे की लत एक चक्रव्यूह के समान है जिसमें से निकलने के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति और संकल्प की आवश्यकता है। उन्होंने ब्यूरो के हेल्पलाइन नंबर 9050891508 पर गुप्त सूचनाएं देने के लिए प्रेरित किया और कहा कि नशा छोड़ने वाले इस पर सम्पर्क करें। प्रतिबंधित नशों पर प्रहार करते हुए बताया कि अफीम चरस चिट्टा स्मैक नशीली गोलियां नशे के टीके एलएसडी आदि पूर्ण रूप से प्रतिबंधित हैं। उन्होंने बताया कि अधिकतर ड्रग्स विदेशों से भारत में प्रवेश करती है जिसे निरतर पकड़ा जाता है तथापि नशा भारत में आ रहा है। हरियाणा सरकार द्वारा एनसीबी हरियाणा का गठन इस उद्देश्य से किया गया है ताकि हरियाणा नशा मुक्त हो सके। कार्यक्रम में विद्यार्थियों से शपथ ग्रहण करवाई गई। तत्पश्चात ब्यूरो के जागरूकता कार्यक्रम एवं पुनर्वास प्रभारी डॉ. अशोक कुमार वर्मा के नेतृत्व में गली, मोहल्ले और बाजार में नशे के विरुद्ध पैदल जागरूकता यात्रा निकालकर लोगों को नशे से दूर रहने के लिए जागरूक किया। इस अवसर पर पंकज मल्होत्रा, सुनीता गुलाटी, श्रवण कुमार, विक्टर, हितेश गुप्ता, रमनदीप कौर, सुनीता शर्मा, पद्मिनी, पूनम, सीमा रानी, परीक्षा शर्मा, संतोष और 319 विद्यार्थियों ने भाग लिया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles