10.5 C
New York
Sunday, April 14, 2024

Buy now

spot_img

कैबिनेट मंत्री कंवर पाल ने अपने कार्यालय पर जनता दरबार में सुनी जन समस्याएं।

कैबिनेट मंत्री कंवर पाल ने अपने कार्यालय पर जनता दरबार में सुनी जन समस्याएं।

यमुनानगर, प्रदेश एजेण्डा न्यूज़

हरियाणा के स्कूल शिक्षा वन एवं पर्यटन मंत्री कंवरपाल ने बताया कि परिवार पहचान पत्र में दर्ज डाटा के आधार पर प्रदेश में 60 साल की आयु पूरी कर चुके 1 लाख से अधिक लोगों की पेंशन स्वत: बनी है। अब गरीबों को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं को लाभ स्वत: मिलना शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद भाजपा सरकार ने 9 साल में व्यवस्था परिवर्तन किया है। अब हर आदमी ऑनलाईन सरकार से सीधे संपर्क कर सकता है। पहले मंत्रियों व मुख्यमंत्री से मिलने के लिए दिल्ली-चंडीगढ़ के चक्कर काटने पड़ते थे। अब पीपीपी के माध्यम से सारा डाटा सरकार के पास उपलब्ध है। प्रदेश में 12 लाख से अधिक नए राशन कार्ड बने हैं। तीन लाख से अधिक सालाना आय वालों को आयुष्मान भारत योजना में शामिल किया गया है। ऐसे लोगों को योजना में शामिल होने के लिए बीमा की 1500 रुपये प्रीमियम राशि खुद भरनी होगी।   जगाधरी स्थित अपने कार्यालय पर आज हरियाणा के स्कूल शिक्षा वन एवं पर्यटन मंत्री आम जनता से रूबरू हुए। इस दौरान उनके समक्ष लोगों ने अपनी समस्याएं रखीं, जिनमें से अधिकांश समस्याओं का मौके पर समाधान किया गया। जिन समस्याओं का मौके पर हल नहीं हो सका, इसके लिए सम्बंधित विभाग के अधिकारियों को फोन पर निर्देश दिए। कैबिनेट मंत्री मंगलवार को अपने कार्यालय पर जनता दरबार में लोगों को संबोधित कर रहे थे।   उन्होंने जनता दरबार में लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि जब हमने 2014 में सरकार बनाई थी तो उस समय यह दृश्य देखकर पीड़ा होती थी कि वृद्धावस्था सम्मान भत्ता बनवाने के लिए दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते थे। सरपंच से लिखवाना पड़ता था, पटवारी, तहसीलदार या समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से मिन्नतें करनी पड़ती थी। अत्यधिक मानव हस्तक्षेप होने की वजह से यह व्यवस्था पक्षपातपूर्ण भी थी और वृद्धावस्था सम्मान भत्ते के लिए अपात्र लोग भी वृद्धावस्था सम्मान भत्ता लेने में सफल हो जाते थे और पात्र वंचित रह जाते थे। हमने बुजुर्गो की इस पीड़ा को समझा और टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके भेदभाव वाली व्यवस्था को खत्म किया है। इसके लिए सरकार ने परिवार पहचान पत्र बनाया। यह परिवार पहचान पत्र का ही कमाल है कि वृद्धावस्था सम्मान भत्ता बनवाने के लिए अब नागरिकों को दफ्तर के चक्कर नहीं काटने पड़ते, न ही दरखास्त देनी पड़ती है और न ही दस्तावेज जमा करवाने पड़ते हैं। इस तरह से आपको दफ्तर, दरखास्त और दस्तावेज से मुक्ति मिली है।  इस मौके पर जगाधरी भाजपा मंडल अध्यक्ष विपुल गर्ग, भाजपा युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष निश्चल चौधरी, जिला मीडिया प्रमुख कपिल मनीष गर्ग, आइटी सेल जगाधरी के अध्यक्ष पीयूष गोगियान, युवा मोर्चा मंडल अध्यक्ष राहुल गढ़ी उपस्थित रहे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles