9.1 C
New York
Thursday, April 18, 2024

Buy now

spot_img

श्री कपालमोचन-श्री आदिबद्री मेला बिलासपुर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए स्कूली बच्चों को सेवा के रूप में वालिंटियर लगाया गया

श्री कपालमोचन-श्री आदिबद्री मेला बिलासपुर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए स्कूली बच्चों को सेवा के रूप में वालिंटियर लगाया गया
बिलासपुर/यमुनानगर, प्रदेश एजेण्डा न्यूज़
श्री कपालमोचन-श्री आदिबद्री मेला के प्रशासक एवं एसडीएम जसपाल सिंह गिल ने कहा कि श्री कपालमोचन-श्री आदिबद्री मेला बिलासपुर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए स्कूली बच्चों को सेवा के रूप में वालिंटियर लगाया गया है। यह वालीटिंयर्स श्रद्घालुओं को किसी तरह की समस्या आने पर मदद करेंगे।
एसडीएम जसपाल सिंह गिल शनिवार को श्री कपालमोचन-श्री आदिबद्री मेला में प्रशासनिक ब्लाक में स्कूली बच्चों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि बिलासपुर के राजकीय मॉडल संस्कृति वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय और राजकीय वरिष्ठï माध्यमिक विद्यालय के 100 से अधिक विद्यार्थी वालिंटियर के तौर पर मेले में अपनी सेवाए सेवा के रूप में देंगे। उन्होंने बच्चों से बातचीत करते हुए कहा कि 26 नवम्बर और 27 नवम्बर श्रद्घालुओं की और भीड़ मेले में आएगी और श्रद्घा की डुबकी लगाएगी। एसडीएम ने बच्चों से कहा कि आपने छोटे बच्चों को अकेले सरोवर में नहीं जाने देना है तथा वरिष्ठï नागरिकों को आवश्यकता अनुसार सहायता कर उन्हें श्रद्घा की डुबकी में मदद करनी है।
एसडीएम ने कहा कि यह सामाजिक एवं सेवा का कार्य है, इसे पूरे मन से करना है। महिलाएं अक्सर अपने जरूरी सामान को डुबकी लगाते हुए सरोवर के किसी स्थान पर रख देती है, आपने सामान का ध्यान रखना है और जरूरत के हिसाब से उनकी मदद भी करनी है। एसडीएम ने कहा कि यह सेवा का कार्य आप बच्चों को शिफ्ट के हिसाब से करना है, बच्चों को जिला प्रशासन की ओर से टोपी भी दी गई और कहा गया कि आपको यह टोपी पहनकर रखनी है ताकि आपकी पहचान वालिंटियर के तौर पर मेले में हो। उन्होंने बच्चों को कहा कि यहां पर जिला प्रशासन द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी भी लगाई गई है, वहां पर काफी भीड़ है, वहां पर भी श्रद्घालुओं को कोई समस्या नहीं आनी चाहिए।
एसडीएम ने कहा कि बच्चों के साथ जिला प्रशासन की ओर भी नोडल अधिकारी और कर्मचारी की डयूटी लगाई गई है ताकि बच्चों को किसी तरह की कोई समस्या न आए। उन्होंने बच्चों को बताया कि अगर कोई व्यक्ति अपने परिवार से अलग हो जाए तो उस व्यक्ति को जिला प्रशासन की ओर से बनाए गए सूचना केन्द्र तक पहुंचाए तथा वहां पर जाकर सूचना, जन सम्पर्क एवं भाषा विभाग के कर्मचारी जो सूचना दे रहे हैं उन्हें उससे मिलवाए और उसकी जानकारी की सूचना वहां से करवाएं ताकि परिवार का सदस्य अपने परिवार से मिल सके। इस मौके पर बीडीपीओ जोगेश कुमार, स्कूल की ओर से मुकेश कुमार, अमित कत्याल, राम नरेश, अवनीश सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles