19.2 C
New York
Wednesday, May 29, 2024

Buy now

spot_img

कुरूक्षेत्र लोकसभा: आप की पॉलिसी के अनुसार खुद को साबित नहीं कर पा रहे सुशील गुप्ता

कुरूक्षेत्र लोकसभा: आप की पॉलिसी के अनुसार खुद को साबित नहीं कर पा रहे सुशील गुप्ता


कुरूक्षेत्र रविंद्र चौहान प्रदेश एजेण्डा न्यूज़

आप उम्मीदवार सुशील गुप्ता मतदातओं को पार्टी के साथ जोड़ने में फिलहाल पिछड़ते नजर आ रहे हैं। इसकी बड़ी वजह यह है कि आम आदमी पार्टी के काम करने का जो तरीका है, वह सुशील गुप्ता अपना नहीं पाए। यही कारण है कि वह परंपरागत राजनीति कर रहे हैं। इस वजह से उनकी पकड़ ढीली पड़ती जा रही है।

जानकारों के मुताबिक हालांकि आप के पास मौका है,लेकिन बड़ी बात तो यह है कि इस मौके का लाभ आखिर उठाया कैसे जाए? इस तथ्य को गुप्त अभी तक नजरअंदाज कर रहे हैं।

आम आदमी से नहीं जुड़ पा रहे हैं
हरियाणा की राजनीति की समझ रखने वाले डाक्टर राजेश कुमार ने बताया कि सुशील गुप्ता आम आदमी से जुड़ नहीं पा रहे हैं। उन्हें टिकट तो मिल गया,लेकिन लोगों से कैसे जुड़ा जाए, यह गुप्ता अभी तक समझ नहीं पा रहे हैं। उनके बयानों में आम आदमी की चिंता नजर नहीं आ रही है। इस वजह से लोग उनके साथ कनेक्ट नहीं कर पा रहे हैं।

मुद्​दों की समझ नहीं है

दूसरी बड़ी दिक्कत यह है कि उन्हें मुद्​दों की समझ नहीं है। इस वजह से वह स्थानीय मुद्​दे उठाने की बजाय प्रदेश सरकार पर उंगली उठा रहे हैं। जानकारों का कहना है कि उनके पास यहां बड़ा मौका था, वह सीएम नायब सिंह सैनी को घेर सकते थे। लेकिन मुद्​दों की समझ न होने की वजह से वह ऐसा करने से चूक रहे हैं।

टीम को साथ लेकर नहीं चल पा रहे हैं

गुप्ता संगठन को साधने में भी फिलहाल पिछड़ते नजर अा रहे हैं। टीम को साध कर अपने साथ जोड़ने की दिशा में वह ज्यादा कुछ नहीं कर पा रहे हैं। लाडवा निवासी अशोक कुमार व थानेसर निवासी सतपाल ने बताया कि वह गुप्ता में आम आदमी पार्टी की झलक देखना चाह रहे थे। लेकिन ऐसा होता नजर नहीं आ रहा है।

बदलाव का प्रतीक नहीं बन पाए
आम आदमी पार्टी जिस तरह से पंजाब व दिल्ली में बदलाव का प्रतीक बनी है,इस तरह का बदलाव सुशील गुप्ता यहां नहीं दिखा पा रहे हैं। वह आरोप प्रत्यारोप की राजनीति कर रहे हैं। जबकि आम आदमी पार्टी तो ग्राउंड पर काम करती है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,912FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles